शनिवार, 7 जनवरी 2012

छत्तीसगढ़िया सबले बढ़िया



छत्तीसगढ़िया  सबले बढ़िया , दुनियां ला ये बताना  हे !!
आधा  पेट  खा  के  रे  संगी   जांगर  टोर  कमाना हे !!


१, सोना-चाँदी, हिरा-मोती इंहां के धुर्रा माटी हे !
तभो ले शोषित दलित गरीबहा छत्तीसगढ़ के वासी हे !

रतिहा पहागे अब तो संगी .. नवा बिहनिया लाना हे !!
आधा पेट .....................

२, खेत हमर कागद हे अऊ, कलम हमर बर नांगर हे 
हरियर-हरियर धान हमर करम के उज्जर आखर हे !! 

कौनो रहय अब अनपढ़ झंन , पढ़ना अऊ पढ़ाना हे !! 
आधा पेट ..........................

३ , जगे जगे रहिना हे संगी करना हे देश के रखवारी 
रखवार बन के करते वो मन घर घर माँ चोरी !!

बेंच दिही लालच में आ के  इंकार का ठिकाना हे  
घर माँ लुकाये चोर मन ले मोर छत्तीसगढ़ ला बचाना हे!! 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें