मंगलवार, 8 अक्तूबर 2013

सड़क

ये डबरा ला तुमन सड़क कहिथौ।।
इहाँ गिरे मा झन भड़क कहिथौ।।

जे बात कहे म लाज आना चाही
 वो बात ला तुमन बेधडक कहिथौ।

वोट मागे बर मोर दूवारी आ के
मुहीच ला थोर कुन सरक कहिथौ।।

मै बात कही देव कबर कि सिरतोन
मोला दू चटकन झड़क कहिथौ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें